हरिद्वार

सलेमपुर में सक्रिय खनन माफियाओं के हौसले कैसे करेंगे ध्वस्त चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल

मोहम्मद आरिफ उत्तराखंड क्राइम प्रभारी

हरिद्वार की गूंज (24*7)
(मोहम्मद आरिफ) हरिद्वार। जनपद में खनन पूर्ण रूप से बंद होने के बावजूद भी खनन माफियाओं के हौसले बुलंद है। खनन माफिया प्रशासन की आंखों में धूल झोंकने की कोशिश कर और चोरी चुपके से अवैध खनन के काले कारोबार को अंजाम देने की फिराक में लगे रहते हैं। हालांकि पूरे जिले का प्रशासन अलर्ट है अवैध खनन पर पैनी नजरें रखे हुए हैं, जो भी अवैध खनन में लिप्त पाया जा रहा है उसके विरुद्ध तुरंत कार्रवाई भी की जा रही है। लेकिन फिर भी अवैध खनन रुकने का नाम क्यों नहीं ले रहा है। वहीं हाल ही में गैस प्लांट चौकी क्षेत्र के सलेमपुर चौक पर पुलिस द्वारा दो अवैध खनन की ट्रैक्टर ट्रॉलियों को रोकने का प्रयास किया गया था, जिनमें मिटटी भरी हुई थी। लेकिन अवैध खनन से भरी ट्रैक्टर ट्राली चालकों ने ट्रैक्टर ट्रालियों को न रोक कर ट्रैक्टर ट्रालियों की रफ्तार ओर तेज कर दी। और सलेमपुर में ट्रैक्टर ट्रालियों को छोड़कर फरार हो गए। हालांकि तेजतर्रार, इमानदार व कर्मठ गैस प्लांट चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल ने दोनों ट्रैक्टर ट्रालियों को अपने कब्जे में लेकर उन पर सीज की कार्रवाई की, तो वही सलेमपुर निवासी अवैध खनन के कारोबारी राव गुड्डु व राव सलमान पर भी मुकदमा दर्ज किया है। वहीं आप किससे साफ अंदाजा लगा सकते हैं कि खनन माफियाओं के कितने हौसले बुलंद है जो पुलिस जवानों के रुकने के इशारे को भी नजर अंदाज कर भागने का प्रयास किया गया हैं। खनन माफियाओं के इस तरह के हौसले प्रशासन के लिए चुनौती से कम नहीं है। लेकिन सवाल यह उठता है पूर्ण रुप से खनन बंद होने के बावजूद भी इन खनन माफियाओं को अवैध खनन करने के पंख कौन लगा रहा है। उच्च अधिकारियों को इस ओर भी गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है। आपको यह भी बता दें कि सलेमपुर के पीछे वाली नदी से अवैध खनन बड़ी मात्रा में किया जाता है सलेमपुर क्षेत्र में बड़ी तादाद में अवैध खनन का कारोबार करने वाले सक्रिय हैं। यह लोग सलेमपुर नदी से मिट्टी उठाकर क्षेत्रीय भराव करने में लगे रहते हैं। जिन पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगना अति आवश्यक है। हालांकि गैस प्लांट चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल अपने कर्तव्यनिष्ठा के प्रति धनी व्यक्ति हैं। अपने फर्ज को ईमानदारी और गंभीरता से निभाने वाले व कर्मठता से कार्य करने वाले अधिकारी भी है। जिन्होंने पुलिस प्रशासनिक सेवा की साख को हमेशा उंचा रखा है। जिनका साफ कहना है जो भी अवैध खनन में लिफ्ट पाया जाता है। उसको बख्शा नहीं जाएगा। उसके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। बरहाल अब यह देखना होगा सलेमपुर नदी से होने वाले खनन पर कैसे पाबंदी लगेगी। क्योंकि पूर्व में भी इन नदियों से बड़ी मात्रा में प्रतिदिन व रात्रि के समय अवैध खनन होता आया है, जिसके संबंध में लगातार खबरें भी प्रकाशित हुई हैं प्रशासन द्वारा कार्रवाई भी की गई है लेकिन यहां अवैध खनन पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध नहीं लग पाया है। जो गैस प्लांट चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल के लिए एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। क्योंकि सलेमपुर क्षेत्र में अवैध खनन करने वाले खनन माफिया निडरता से कार्य करते हैं। और दबंगता उनका गहना है। तो वही चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल का नाम भी अवैध गतिविधियों में लिफ्ट रहने वाले व्यक्तियों के लिए एक खौफ भी है। और अब देखना यह होगा की चौकी इंचार्ज अशोक सिरसवाल इस चुनौती से कैसे लड़ते हैं। कैसे खनन माफियाओं के हौसले ध्वस्त करते हैं और सलेमपुर क्षेत्रीय नदी से होने वाले अवैध खनन पर किस तरह की योजना तैयार कर नकेल करते हैं। यह भी अपने आप में बड़े सवाल है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *