हरिद्वार

कुंभ की तर्ज पर एवं स्थानीय निवासियों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए कावड़ मेले की व्यवस्थाएं करें जिला प्रशासन: सुनील सेठी

वेद प्रकाश चौहान मुख्य सह सम्पादक

हरिद्वार की गूंज (24*7)
(वेद प्रकाश चौहान) हरिद्वार। सामाजिक कार्यकर्ता महानगर व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष सुनील सेठी ने जिलाधिकारी एवं हरिद्वार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से मांग करते हुए कहा कि जिला प्रसाशन कावड़ मेले की जो भी व्यवस्थाएं करें उनमें स्थानीय निवासियों एवं कावड़ियों की सुविधाओं के अनुरूप व्यवस्थाएं करें। सेठी ने जिला प्रसाशन के साथ ही मुख्य सचिव को भी पत्र जारी किया जिसमें मांग की गई कि हर वर्ष लाखों कावड़िये जल भरने हरिद्वार आते है इससे बड़ा मेला शायद ही हरिद्वार में कोई और होता हो लेकिन दुर्भाग्य हरिद्वार का जो व्यवस्थाएं मेले के लिए बैठकों में बनाई जाती है वो न तो धरातल पर लागू होती है न ही उनका क्रियावन किया जाता है इतने बड़े मेले की तैयारियों को कुंभ की तर्ज पर किया जाना चाहिए जिसमें कावड़ियों के साथ साथ नगरवासियों की सुविधाओं का ध्यान रखा जाए। नगरवासी 15 दिन घरों में कैद हो जाते है कोई वैकल्पिक मार्ग आपात स्तिथि के लिए नही खोला जाता एक मात्र हिल बाईपास को बैठकों में खोलने की बात होती है, लेकिन खोला नही जाता डाक कावड़ के समय सिर्फ 2 दिन के लिए इस मार्ग को खोलकर खानापूर्ति की जाती है पार्किंग के अभाव में आवसियों कालोनियों में गलियों में गाड़ियां बड़े बड़े ट्रैक्टर अव्यवस्तिथ रूप से खड़े कर दिए जाते है जिससे आम जनमानस को भारी परेशानी उठानी पड़ती है। कावड़ियों के लिए भी जो व्यवस्थाएं पार्किंग, शौचालयों एवं सुक्षात्मक रूप से की जाती है वो समुचित नही होती। इसलिए हम जिला प्रसाशन से मांग करते है कि बड़े मेले की व्यवस्थाएं सुविधाजनक होनी चाहिए जिसका धरातल पर क्रियावन हो। मांग करने वालों में मुख्य रूप से महानगर अध्यक्ष जितेंद्र चौरसिया, महामंत्री नाथीराम सैनी, कोषाध्यक्ष मुकेश अग्रवाल, मनोज ठाकुर, सुनील मनोचा, उमेश चौधरी, राजेश भाटिया, गौरव गौतम, सोनू चौधरी, राजेश सुखीजा, विनोद गिरी, अनिल कुमार, भूदेव शर्मा, धर्मपाल प्रजापति, दीपक मेहता व राजेश शर्मा रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *