उत्तराखंड

कोविड़ वैक्सीनेशन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे डॉ विभाष राजपूत

राव ज़ुबैर पुंडीर उत्तर प्रदेश प्रभारी

हरिद्वार की गूंज (24*7)
(राव ज़ुबैर पुंडीर) बागपत। वर्तमान में कोरोना महामारी विश्व के लिये सबसे बड़ा संकट है। समय रहते अगर इस पर काबू नही पाया गया तो इसके गंभीर परिणाम देखने को मिलेंगे, इसमें कोई संदेह नही है। सबसे अधिक चिंता की बात तो यह है कि इस वायरस को नष्ट करने के लिये विश्वभर के वैज्ञानिक मिलकर भी आज तक कोई दवाई नही बना पाये है। वर्तमान में समस्त विश्व के देशों के पास जो वैक्सीन है, उससे हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर इस वायरस के प्रभाव को कम करने के प्रयास किये जा रहे है। कोविड़-19 वैक्सीनेशन के बारे में लोगों को जागरूक करने में बागपत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के चिकित्सा अधीक्षक डॉ विभाष राजपूत महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे है। वह प्रतिदिन फील्ड में जाकर लोगों से मिलते है और कोविड़-19 वैक्सीनेशन की महत्ता के बारे में लोगों को बताते है। इसके अलावा वह विभिन्न प्रकार के मीड़िया प्लेटफार्मो के माध्यम से कोविड़-19 वैक्सीनेशन के लाभों के बारे में लोगों को परिचित करवा रहे है। डॉ विभाष राजपूत ने बताया कि हमें अपने आपको, अपने परिवार को, अपने समाज को, अपने देश को और आने वाली पीढ़ियों को सुरक्षित रखने के लिए वैक्सीनेशन करवाना जरूरी है। वर्तमान पीढ़ी और आने वाली पीढ़ियों की सुरक्षा की हम पर बहुत बड़ी जिम्मेदारी है, अगर हमने इसमें चूक की तो बहुत ही भयंकर परिणाम होंगे। बताया कि कोरोना कितना घातक है, इसको प्रत्यक्ष रूप हिन्दुस्तान सहित विश्वभर के सभी देश देख चुके है और देख रहे है। लाखों लोग इस महामारी से असमय चले गये है और उनके परिवार बेसहारा हो चुके है। ऐसे अनेकों बेसहारा परिवार जिस मुश्किल दौर और संकटो से जूझ रहे है, उसकी कल्पना करने मात्र से ही रूह तक कांप उठती है। हम सभी को इसके प्रति गंभीर होना होगा। अगर इस महामारी से बचना है तो हर व्यक्ति कोरोना वैक्सीनेशन को अवश्य करवाये। बताया कि वर्तमान में यह टीका 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को ही लगाया जा रहा है। उन्होंने लोगों से लापरवाही ना बरतने और मास्क लगाने सहित कोरोना से बचने के लिये सरकार द्वारा जारी सभी दिशा-निर्देषों का पहले की तरह ही गंभीरता से अनुसरण करने की अपील की। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की वैक्सीनेशन टीमो के हौसलो की तारीफ की जो अपने कार्य को पूरी निष्ठा और ईमानदारी के साथ कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *